Breaking News
Home / Interesting / सावधान: WhatsApp ग्रुप में भेजे गए एक मैसेज की वजह से पिछले 5 महीने से जेल में बंद है एडमिन!

सावधान: WhatsApp ग्रुप में भेजे गए एक मैसेज की वजह से पिछले 5 महीने से जेल में बंद है एडमिन!

आज के समय में व्हाट्सएप एक ऐसा बहुत बड़ा प्लेटफार्म बन चुका है जिसको भारत में लोग सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते हैं. इस समय हर उम्र का व्यक्ति व्हाट्सएप का इस्तेमाल करता है फिर चाहे वो बच्चा हो या बूढ़ा. बहुत से लोग झूठी खबरों को लोगों तक पहुंचाने, किसी धर्म या देश को नीचा दिखाने के लिए भी व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हैं. इन बातों को जहन में रखते हुए अब भारत सरकार बहुत ज्यादा सख्त हो चुकी है और जो भी व्यक्ति व्हाट्सएप पर किसी को आपत्तिजनक मैसेज करता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कारवाई की जाती है. आज हम आपको एक ऐसी ही घटना के बारे में बताने जा रहे है जिसमें व्हाट्सएप ग्रुप का एक एडमिन पिछले 5 महीने से ग्रुप में भेजे गए एक आपत्तिजनक मैसेज की वजह से जेल में बंद है. तो चलिये विस्तार से जान लीजिये पूरा मामला…

आए दिन WhatsApp पर आते है तरह-तरह के मैसेज ( Image Source: The Indian Express )

ये है मामला 

बता दें कि ये मामला मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले का है. इस जिले के तालेन कस्बे में रहने वाले जुनैद खान जो BSC की पढ़ाई कर रहे है को लगभग 5 महीने पहले 14 फरवरी 2018 को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस ने जुनैद को व्हाट्सएप ग्रुप पर 1 आपत्तिजनक मैसेज भेजने की वजह से गिरफ़्तार किया था. जब पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही थी तब उन्हें पता चला कि उस समय ग्रुप का एडमिन जुनैद था.

ग्रुप का एडमिन होने की वजह से सजा भुगत रहा है जुनैद ( Image Source: namanbharat )

जुनैद के परिवारवालों का है ये कहना 

वहीं इस बारे में जुनैद के परिवारवालों का कहना है कि उनका बेटा ना कभी इस ग्रुप में एडमिन था ना उसने कोई आपत्तिजनक मैसेज किसी को भेजा है. कहा जा रहा है कि जुनैद इस ग्रुप में शामिल जरूर था, लेकिन जब इस ग्रुप के एडमिन जिसका नाम इरफान है ने आपत्तिजनक मैसेज करने के बाद ग्रुप छोड़ दिया तो जुनैद खुद बा खुद ग्रुप का एडमिन बन गया. ऐसे में जब पुलिस ने ग्रुप में भेजे गए आपत्तिजनक मैसेज के लिए कार्रवाई करना शुरू किया तो उस समय जुनैद ही ग्रुप का एडमिन था इसलिए उसको गिरफ्तार कर लिया गया.

5 महीने से जेल में बंद होने की वजह से परीक्षा भी नहीं दे पाया जुनैद

कोर्ट ने जुनैद को जमानत भी नहीं दी और वो पिछले 5 महीने से जेल में बंद है. जिसके कारण वो अपनी BSC की परीक्षा भी नहीं दे पाया. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया है ” हमने जब कार्रवाई की उस समय जुनैद ही ग्रुप का एडमिन था ऐसे में उस आपत्तिजनक मैसेज के लिए जुनैद ही जिम्मेदार हैं ”. पुलिस ने अब इरफान को भी हिरासत में ले लिया है.

अगर आप भी है किसी WhatsApp ग्रुप के एडमिन तो जरूर रखें इन बातों का ध्यान 

इसके अलावा हम आपको सलाह देते है कि अगर आप भी किसी व्हाट्सएप ग्रुप के एडमिन है तो किसी भी अनजान व्यक्ति को अपने ग्रुप में ऐड ना करें और अगर ग्रुप का कोई मेंबर ग्रुप में आपत्तिजनक मैसेज करता है तो उस मेंबर को फौरन ग्रुप से निकाल दें और उसके भेजे गए मैसेज को भी डिलीट कर दें.

News Source: hindi.news18